झूलन गोस्वामी अब तक अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में 314 विकेट ले चुकी हैं। फिलहाल अंतरराष्ट्रीय टी20 क्रिकेट को अलविदा कह चुकीं झूलन गोस्वामी का शानदार सफर जारी है।

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की तेज गेंदबाद झूलन गोस्वामी एक बार फिर चर्चा में हैं। झूलन गोस्वामी हाल ही में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल द्वारा जारी की गई एकदिवसीय महिला गेंदबाजों की सूची में दुनिया की टॉप बॉलर बनी हैं। झूलन गोस्वामी ने इससे पहले फरवरी 2017 में आईसीसी की वनडे रैंकिंग में शीर्ष स्थान हासिल किया था। वह महिला क्रिकेट में सिर्फ दूसरी बॉलर हैं जो 1,873 दिन सर्वोच्च गेंदबाज रही हैं। उनसे ज्यादा दिनों तक गेंदबाजी में शीर्ष पर रहने का रिकॉर्ड आॅस्ट्रेलिया की पूर्व तेज गेंदबाज कैथरीन फिट्जपैट्रिक के नाम है।
कैथरीन अपने समय में 2,113 दिन विश्व की शीर्ष बॉलर रहीं। इस बार झूलन गोस्वामी के पास उनके रिकॉर्ड को तोड़ने का सुनहरा अवसर है। हाल ही में भारत और इंग्लैंड की महिला टीमों के बीच खेली गई तीन वनडे मैचों की सीरीज में झूलन गोस्वामी ने शानदार बॉलिंग की। इसी बेहतरीन प्रदर्शन का सिला उन्हें आईसीसी द्वारा जारी की गई रैंकिंग में मिला। झूलन 3 वनडे मैचों की सीरीज में 90 रन देकर 8 विकेट झटकने में सफल रहीं। उनके इस प्रदर्शन के दम पर टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड में आयोजित होने वाले 2021 महिला क्रिकेट विश्व कप में सीधे क्वालीफाई कर लिया। झूलन गोस्वामी एकदिवसीय क्रिकेट में दुनिया की सबसे कामयाब बॉलर हैं इसमें रत्ती भर संदेह नहीं है। झूलन ने 177 वनडे मैचों की 176 पारियों में 1429 ओवर की बॉलिंग की है।
जिनमें उन्होंने 241 ओवर मेडन रखते हुए 4653 रन खर्च कर 218 विकेट हासिल किए हैं। वनडे क्रिकेट में उनका सर्वश्रेष्ठ बॉलिंग प्रदर्शन 31 रन देकर 6 विकेट रहा है। 5 जुलाई 2011 को साउथगेट में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलते हुए झूलन गोस्वामी ने ये करिश्मा किया था। वनडे मैचों में एक पारी में 6 विकेट लेने वाली वह दुनिया की छठी बॉलर हैं। झूलन एकदिवसीय मैचों में चार बार 6 विकेट और दो बार 5 विकेट लेने में सफल रही हैं। बता दें कि झूलन भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान भी रही हैं। मौजूदा समय में अगर एकदिवसीय मैचों में देखा जाए तो झूलन गोस्वामी के बॉलिंग रिकॉर्ड के आस-पास कोई महिला गेंदबाज नहीं है।
आॅस्ट्रेलिया की जिस महिला गेंदबाज कैथरीन फिट्जपैट्रिक से झूलन को भविष्य में चुनौती मिलती उन्होंने साल 2007 में वनडे क्रिकेट को अलविदा कह दिया। कैथरीन फिट्जपैट्रिक ने 109 वनडे मैचों में 180 विकेट हासिल किए थे। वर्तमान समय में वेस्टइंडीज की अनीसा मोहम्मद एक ऐसी महिला क्रिकेटर हैं जो वनडे मैचों में खेल रही हैं और उन्होंने 117 एकदिवसीय मैचों में 146 विकेट लिए हैं। 7 फरवरी 2018 का दिन झूलन गोस्वामी कभी नहीं भूलेंगी। ये वो दिन था जब झूलन का नाम वनडे क्रिकेट इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज हो गया। इस दिन साउथ अफ्रीका के विरुद्ध किम्बरले में खेलते हुए उन्होंने सलामी बल्लेबाज लौरा वोल्वार्ड्ट को आउट कर एकदिवसीय मैचों में 200 विकेट हासिल करने का नया कीर्तिमान रचा। झूलन कहने में भले ही आसान लगता हो लेकिन झूलन गोस्वामी बनना काफी मुश्किल है। उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट तक का सफर तय करने में बहुत पापड़ बेलने पड़े।
झूलन के माता-पिता कभी नहीं चाहते थे कि उनकी बेटी क्रिकेटर बनें। उनके पैरेंट्स ने हमेशा झूलन को स्टडी पर फोकस करने के लिए कहा लेकिन झूलन के मन और मस्तिष्क में क्रिकेट का नशा सवार था। झूलन शुरुआत में अपने पड़ोस के लड़कों के साथ क्रिकेट खेलती थीं। इसके बाद वह प्रतिदिन सुबह 4.30 बजे लोकल ट्रेन से 80 किमी दूर कोलकाता ट्रेनिंग करने जाती थीं। झूलन गोस्वामी का जन्म 25 नवंबर 1982 को पश्चिम बंगाल के नदिया जिले के चकदह में हुआ। नदिया एक्सप्रेस के नाम से मशहूर झूलन गोस्वामी एक समय दुनिया की सबसे तेज बॉलर थीं। उनकी खौफनाक 120 किमी प्रति घंटे बॉलिंग की रतार के आगे विरोधी महिला बल्लेबाज खेलने की हिम्मत नहीं जुटा पाती थीं। झूलन गोस्वामी अब तक अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में 314 विकेट ले चुकी हैं। फिलहाल अंतरराष्ट्रीय टी20 क्रिकेट को अलविदा कह चुकीं झूलन गोस्वामी का शानदार सफर जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here