बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद और राबड़ी देवी के परिवार का छठ इस बार फीका रहेगा। सालों से धूमधाम से छठ करने वाली राबड़ी देवी के पति एक तरफ जेल में हैं, तो दूसरी ओर उनके बड़े बेटे व पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप पत्नी ऐश्वर्या राय से तलाक लेने पर अड़े हुए हैं। क्रूरता के आधार पर पटना सिविल कोर्ट में पत्नी से तलाक की अर्जी लगाने की सूचना मिलने के बाद पिता आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद के बुलावे पर तीन नवंबर को वे दो दिनों के लिए रांची गए थे। राजेंद्र इंस्टीट्यूट आॅफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) के पेइंग वार्ड के बंद कमरे में करीब पौने तीन घंटे तक बाप- बेटे में बातचीत हुई। लेकिन मामला पटरी पर नहीं आया।

उल्टे तेजप्रताप की नाराजगी और अधिक बढ़ गई। शादी के बाद से ही तेजप्रताप के संबंध पत्नी ऐश्वर्या के साथ अच्छे नहीं रहे हैं। एक सितंबर से दोनों अलग-अलग रह रहे हैं। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री दारोगा प्रसाद राय की पोती और पूर्व मंत्री चंद्रिका राय की बेटी ऐश्वर्या के साथ तेजप्रताप की शादी इसी साल 12 मई को हुई थी। पापा का भी सपोर्ट नहीं पिता लालू प्रसाद यादव से मिलकर रांची से पटना के लिए रवाना होने के पहले तेजप्रताप काफी तनाव में थे। उनके तेवर भी तल्ख थे। मीडिया से बातचीत में उनकी पीड़ा झलक गई। कहा, मेरा फैसला अब नहीं बदलेगा। पत्रकारों ने जब पूछा कि क्या अपने पिता की बात मानेंगे। इस पर उन्होंने दो टूक कहा, जब पिता मेरी बात नहीं मान रहे, तो मैं उनकी बात क्यों मानूं। परिवार का कोई भी आदमी मेरा सपोर्ट नहीं कर रहा है। यह कहते-कहते तेजप्रताप गुस्से में आ गये और बोले, क्या हम मर जायें, या फांसी लगाकर आत्महत्या कर लें। मेरे साथ जो बर्ताव हुआ है, उसे हम कोर्ट में ही बतायेंगे। जो याचिका हमने दायर की है, उसमें सब दर्ज है।

प्रदेश की राजनीति में प्रमुख रूप से दखल रखने वाले दो राजनीतिक परिवारों के पुत्र और पुत्री के बीच हुई धूमधाम वाली शादी का हश्र ऐसा होगा किसी ने सोचा भी न था। तेजप्रताप का अपनी पत्नी ऐश्वर्या से तलाक की अर्जी देने के बाद यह मामला आमजन में चर्चा का विषय बन गया है।

तेजप्रताप के लौटने पर लालू की स्थिति भी कुछ ठीक नहीं है। रिम्स के सूत्रों की मानें, तो बेटे तेजप्रताप और बहू ऐश्वर्या के बीच रिश्ते सहज नहीं होने के कारण लालू प्रसाद काफी परेशान हैं। वो समय पर न नाश्ता कर रहे और न ही खाना खा रहे हैं। बेटे के रवैये से वे काफी उधेड़बुन में हैं। इसके साथ ही अनिद्रा के भी शिकार हो गये हैं।

समझाने का असर नहीं

शादी के बाद से ही तेजप्रताप और ऐश्वर्या में नहीं बन रही है। बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री पत्नी ऐश्वर्या से नाराज चल रहे हैं। वैचारिक मतभेद की बातें सामने आ रही है। तेजप्रताप कई बार मीडिया में भी कह चुके हैं कि हमारे और ऐश्वर्या के विचार अलग-अलग हैं। वो हाई सोसायटी की हैं और हम ठहरे पूजा-पाठ करने वाले। परिवार के लोगों की लाख कोशिश के बावजूद तेजप्रताप पिता लालू से मुलाकात के बाद पटना नहीं लौटे। उनके समझाने और फटकारने के बाद भी वे पत्नी ऐश्वर्या के साथ समझौते के लिए तैयार नहीं हुए। अपने तलाक लेने के फैसले पर अडिग हैं।

टिकट दिलाने का दबाव

तलाक की अर्जी में तेजप्रताप ने कहा है, ऐश्वर्या सारण (छपरा) संसदीय क्षेत्र से अपने पिता चंद्रिका राय के लिए लोकसभा चुनाव का टिकट चाहती थीं। इसके लिए वह लगातार दबाव दे रही थीं। कहती थीं कि तुम्हारे साथ शादी से क्या फायदा, जब मेरे पिता को छपरा से लोकसभा का टिकट ही नहीं मिलेगा। अर्जी में तेजप्रताप ने कहा है कि पिता लालू प्रसाद जब मुंबई के अस्पताल में भर्ती थे, उस समय उन्हें देखने गये थे। उस दौरान होटल ताज में ठहरे थे। वहां भी ऐश्वर्या ने अपने पिता के लिए सारण संसदीय सीट से टिकट दिलवाने को कहा था।

ऐश्वर्या राय को पसंद पाश्चात्य संस्कृति

आवेदन में तेजप्रताप की ओर से कहा गया है कि मैं धार्मिक प्रवृत्ति का हूं, पर दिल्ली विश्वविद्यालय में पढ़ी ऐश्वर्या पाश्चात्य सभ्यता का अनुकरण करती है। मेरा मन भजन-कीर्तन में लगता है, लेकिन ऐश्वर्या को इन सब चीजों से नफरत है। वे वेस्टर्न सांग पसंद करती हैं। अगस्त में जब मैंने भगवा वस्त्र पहने, तो ऐश्वर्या ने सभी के सामने मेरा मजाक उड़ाया था। तेजप्रताप ने अपने परिवार को अपमानित करने का आरोप भी ऐश्वर्या पर लगाया है। कहा है कि वह मेरे परिवार के लोगों का आदर नहीं करती है। किसी बात पर बड़ी बहन मीसा भारती ने एक बार सलाह दी तो ऐश्वर्या को वह अच्छा नहीं लगा। तेजप्रताप ने दोनों भाई को लड़वाने का आरोप भी लगाया है। कोर्ट में दिये गये आवेदन के मुताबिक ऐश्वर्या हमेशा कहा करती थीं कि तुम्हारा छोटा भाई तेजस्वी तुमसे जलता है।

बंद कमरे में हो सुनवाई

पत्नी ऐश्वर्या से तालाक के लिए पटना सिविल कोर्ट में दी गई अर्जी में तेजप्रताप ने अपने संबंधों के बारे में विस्तृत रूप से बताया है। इसमें कहा है कि ऐश्वर्या एक सितंबर से अलग रह रही हैं। इसके साथ ही मानसिक प्रताड़ना सहित कई गंभीर आरोप लगाये गये हैं। तेजप्रताप की ओर से तलाक के लिए पटना सिविल कोर्ट में तीन सेट में आवेदन दिये हैं। पहला हिन्दू विवाह अधिनियम की धारा 13(1) (1ए) तलाक के लिए है। दूसरा आवेदन 14(1) के तहत दिया गया है। इसमें तलाक के लिए पर्याप्त आधार बताये गये हैं और शादी के एक साल के अंदर तलाक मांगा गया है। धारा 22 के तहत दिये गये तीसरे आवेदन में कहा गया है कि सुनवाई की प्रक्रिया बंद कमरे में पूरी की जाये और कार्यवाही प्रकाशित न की जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here