रपट

शिव ‘राज’ के संकटमोचक मोदी?

इस बार मध्य प्रदेश विधानसभा का चुनाव काफी दिलचस्प होने जा रहा है। बीजेपी और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर दिखाई पड़ रही है। दिल्ली की सर्वे एजेंसी सेंटर फॉर इलेक्शन मैनेजमेंट एंड कम्यूनिकेशन (सीईएमसी) के ताजा सर्वे में शिवराज सिंह चौहान की सत्ता हिलती दिख...

अब तक नहीं लगी एक भी र्इंट

सरकारें आनी-जानी हैं। यह एक सतत प्रक्रिया है और सेहतमंद लोकतंत्र के जरूरी भी। लेकिन सत्ता में किसी के आने-जाने से विकास कार्य नहीं रुकना चाहिए। खासकर ऐसा काम जिनका सीधा सरोकार आमजन से हो। मगर राजनीतिक अदावतों की वजह से कई बार ऐसा नहीं हो पाता...

बिलिंग घाटी में मौत की उड़ान

देवभूमि हिमाचल जहां अपनी खूबसूरती के लिए प्रसिद्ध है, वहीं कई साहसिक खेलों को पसंद करने वालों की भी यह पसंदीदा जगह है। यह जगह रिवर राटिंग, पर्वतारोहण और पैराग्लाइडिंग जैसे खेलों के लिए देश-विदेश में जाना जाता है। आसमान में उड़ने की चाहत रखने वाले सैलानियों...

जम्मू में सजा दरबार

राज्य की शीतकालीन राजधानी जम्मू में सरकार का दरबार सज चुका है। अगले छह महीने तक सचिवालय सहित अन्य कार्यालय यहीं से संचालित होंगे। इसके पहले श्रीनगर में 26 अक्तूबर को कामकाज बंद हो गया था। दरबार मूव की प्रक्रिया डोगरा शासक महाराजा रणबीर सिंह ने वर्ष...

किसानों के लिए सहायक होगा कृषि कुम्भ : सूर्य प्रताप

कृषि कुंभ का क्या उद्देश्य था ? प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने की कोशिश में है। ये लक्ष्य किसानों को वैज्ञानिक तरीके से खेती करने का प्रशिक्षण देकर ही हासिल किया जा सकता है। कृषि...

कृषि कुंभ से मिली नई दिशा

किसानों की आय को दोगुना करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर यूपी सरकार भी लगातार कोशिश कर रही है। प्रदेश की राजधानी में कृषि कुंभ का आयोजन इसी कोशिश का हिस्सा था। इसमें पूरे प्रदेश के किसानों ने बड़ी संख्या में भाग लिया। केन्द्रीय...

जातीय गोलबंदी का तेज हुआ अभियान

लोकसभा का चुनाव नजदीक आता देख 40 सीट वाले बिहार में राजनीतिक समीकरण बनाने, सीटों के बंटवारे और तालमेल के लिए विमर्श और बैठकों का सिलसिला शुरू हो गया है। दूसरी ओर रैली, महारैली, सम्मेलन, महासम्मेलन के साथ महापुरुषों की जयंती के बहाने विभिन्न जाति समूहों को...

राम पर भारी राफेल

राफेल विमान सौदे को लेकर दाखिल जनहित याचिका पर सर्वोच्च न्यायालय ने जिस तरह का रुख अपनाया है, उसपर सवाल उठने लगे हैं। दस अक्टूबर को इस मामले की सुनवाई में मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, यूयू ललित और केएम जोसेफ की पीठ ने कहा कि वह कोई...

भारतीय अस्मिता के स्थायित्व का संघर्ष

राम मंदिर को लेकर हालिया स्थिति से स्पष्ट है कि ये मामला व्यक्तिगत बनाम समूहिक हो गया है। अब यह स्पष्ट हो गया है कि इसमें राम जन्मभूमि का मामला संघर्ष नहीं कर रहा है, बल्कि करोड़ों भारतीयों की आस्था, सांस्कृतिक प्रतीक और वैश्विक पहचान संघर्ष कर...

तारीख दर तारीख!

पूरा देश 29 अक्टूबर को सर्वोच्च न्यायालय की ओर देख रहा था। सबको उम्मीद थी कि अयोध्या विवाद पर सुनवाई आरंभ हो जाएगी। सर्वोच्च न्यायालय में मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, एसके कॉल और केएम जोसफ वाली तीन जजों की पीठ ने पांच मिनट से भी कम से...