चुनाव

गठबंधन नहीं रोक पाएगा मोदी की राह

कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा के उपचुनाव को भले ही अगले आम चुनावों का सेमीफाइनल बतायाजा रहा हो, लेकिन 2019 में गठबंधन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राह रोक पाना मुश्किल होगा।चुनाव परिणामों का बारीकी से विश्लेषण करने से पता चलता है कि विपक्षी दलों की तमाम घेरेबंदी...

ईवीएम को बदनाम करने की मुहिम

चा र लोकसभा और दस विधानसभा उपचुनावों में मतदान के दिन से लेकर उसके बाद तक राजनीतिक दलोंने जिस तरह इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन या ईवीएम को खलनायक बनाने की कोशिश की है, वहनिश्चय ही दुर्भाग्यपूर्ण है। हालांकि इसमें आश्चर्य की कोई बात नहीं है। पिछले काफी समय से भाजपाविरोधी दल...

ग्रामीण बंगाल पर कब्जे का कातिलाना संग्राम

पंचायत चुनावों में जहां तृणमूल नंबर वन पार्टी बनकर उभरी, वहीं भाजपा ने वाम मोर्चा को पछाड़ते हुए दूसरा स्थान हासिल किया। पश्चिम बंगाल में चुनाव हो और खून–खराबा न हो, यह कतई मुमकिन नहीं है। यहां चुनावी हिंसा का पुराना इतिहास रहाहै। दिलचस्प तथ्य यह है कि बंगाल में लोकसभा...

अब रामराज्य रथयात्रा!

रामराज्य रथयात्रा छह राज्यों उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु से होकर गुजरेगी और 41 दिनों का सफर तय कर रामनवमी के दिन तमिलनाडु के रामेश्वरम पहुंचेगी। रामेश्वरम से होती हुई यात्रा उसी दिन तिरुवनंतपुरम पहुंचेगी। यहां स्थित सुप्रसिद्ध पद्मनाभ मंदिर के सामने रामराज्य सम्मेलन के...

कहां से मिलता है दलों को धन?

चु नाव में पारदर्शिता लाने के लिए आईसीएआई का यह दिशा निर्देश  है कि राजनीतिक दलों के आॅडिट रिपोर्ट की इन्कम टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा छानबीन की जानी चाहिए किन्तु इसका पालन नहीं होता है। लोकतंत्र के उत्सव चुनाव                  में पारदर्शिता और पार्टियों...

औंधे मुंह गिरे चुनाव विरोधी तंत्र

किसी भी लोकतंत्र में संविधान द्वारा दिए गए अधिकारों को कोई भी संगठन छीन नहीं सकता है। किसी भी लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व चुनाव होता है। नगालैंड में लोकतंत्र के सबसे बड़े पर्व पर कुछ संगठनों द्वारा ग्रहण लगाने की कोशिश की गई। लेकिन संविधान और लोकतंत्र की...

विकास विरोधी होने की तोहमत

पहाड़ी राज्य मेघालय में पांच वर्ष बाद फिर से विधानसभा चुनाव का बिगुल बज गया है। राज्य की सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस एक बार फिर मतदाताओं से पांच वर्ष के लिए जनमत मांग रही है। गत 15 वर्षों से सत्ता पर बैठी कांग्रेस के कामकाज को लेकर जनता में भारी...

साम्यवाद के नाम पर जातिवाद

साम्यवाद के नाम पर जातिवाद के खेल ने त्रिपुरा के मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) की सरकार के मुखौटे को हटाकर उसकी असलियत को बेनकाब कर दिया है। चालू माह की 17 तारीख को होने जा रहे विधानसभा चुनाव में यूं तो विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला बड़े...