चुनाव

सीमांचल का सच

लोकसभा चुनाव का काउंट डाउन शुरू हो गया है। हर एक दल इसे लेकर अपनी-अपनी तैयारी में है। इसी के मद्देनजर बिहार के सीमांचल से चुनाव डायरी शुरू कर रहे हैं। इसमें हम क्षेत्र विशेष के राजनीतिक समीकरण के गुणा-भाग के बारे में बात करेंगे। बिहार सीमांचल में अब चार...

मिथक टूटेगा या बना रहेगा

अजमेर शहर विधानसभा सीटों की दृष्टि से उत्तर और दक्षिण में बंटा हुआ है। राजनीतिक दृष्टि से भी इन दोनों ही सीटों से चुने गए जनप्रतिनिधि एक ही सिक्के के दो पहलू की तरह हैं। विगत दो दशकों में कभी ऐसा नहीं हुआ, जब अजमेर की दो...

भ्रम है भाजपा-शिवसेना की दूरी

महाराष्ट्र में भाजपा–शिवसेना के गठजोड़ पर रह– रहकर कयास लगाये जाते रहे हैं। यह फिर हुआ, जबशिवसेना ने इस बार के उपचुनाव में भाजपा के सामने अपने उम्मीदवार खड़े कर दिए। नये हालात परकेंद्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का बयान काबिलेगौर है। वे कहते हैं– तेरे बिना हमारा चलताभी नहीं है और तुम्हारे हमारे बीच...

जयनगर पर भाजपा की नजर

कर्नाटक की राजाराजेश्वरी नगर विधानसभा सीट पर कांग्रेस ने सफलता हासिल कर विधानसभा में अपनी ताकत और बढ़ा ली है। ये परिणाम बीजेपी के लिए एक चेतावनी भी है कि अगर पार्टी ने ध्यान नहीं दिया तो आगामी 11 जून को जयनगर विधानसभा सीट के लिए होने वाले चुनाव...

गठबंधन नहीं रोक पाएगा मोदी की राह

कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा के उपचुनाव को भले ही अगले आम चुनावों का सेमीफाइनल बतायाजा रहा हो, लेकिन 2019 में गठबंधन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राह रोक पाना मुश्किल होगा।चुनाव परिणामों का बारीकी से विश्लेषण करने से पता चलता है कि विपक्षी दलों की तमाम घेरेबंदी...

ईवीएम को बदनाम करने की मुहिम

चा र लोकसभा और दस विधानसभा उपचुनावों में मतदान के दिन से लेकर उसके बाद तक राजनीतिक दलोंने जिस तरह इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन या ईवीएम को खलनायक बनाने की कोशिश की है, वहनिश्चय ही दुर्भाग्यपूर्ण है। हालांकि इसमें आश्चर्य की कोई बात नहीं है। पिछले काफी समय से भाजपाविरोधी दल...

ग्रामीण बंगाल पर कब्जे का कातिलाना संग्राम

पंचायत चुनावों में जहां तृणमूल नंबर वन पार्टी बनकर उभरी, वहीं भाजपा ने वाम मोर्चा को पछाड़ते हुए दूसरा स्थान हासिल किया। पश्चिम बंगाल में चुनाव हो और खून–खराबा न हो, यह कतई मुमकिन नहीं है। यहां चुनावी हिंसा का पुराना इतिहास रहाहै। दिलचस्प तथ्य यह है कि बंगाल में लोकसभा...

अब रामराज्य रथयात्रा!

रामराज्य रथयात्रा छह राज्यों उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु से होकर गुजरेगी और 41 दिनों का सफर तय कर रामनवमी के दिन तमिलनाडु के रामेश्वरम पहुंचेगी। रामेश्वरम से होती हुई यात्रा उसी दिन तिरुवनंतपुरम पहुंचेगी। यहां स्थित सुप्रसिद्ध पद्मनाभ मंदिर के सामने रामराज्य सम्मेलन के...

कहां से मिलता है दलों को धन?

चु नाव में पारदर्शिता लाने के लिए आईसीएआई का यह दिशा निर्देश  है कि राजनीतिक दलों के आॅडिट रिपोर्ट की इन्कम टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा छानबीन की जानी चाहिए किन्तु इसका पालन नहीं होता है। लोकतंत्र के उत्सव चुनाव                  में पारदर्शिता और पार्टियों...

औंधे मुंह गिरे चुनाव विरोधी तंत्र

किसी भी लोकतंत्र में संविधान द्वारा दिए गए अधिकारों को कोई भी संगठन छीन नहीं सकता है। किसी भी लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व चुनाव होता है। नगालैंड में लोकतंत्र के सबसे बड़े पर्व पर कुछ संगठनों द्वारा ग्रहण लगाने की कोशिश की गई। लेकिन संविधान और लोकतंत्र की...