सिनेमा

दिलो-दिमाग को झकझोरती ‘मुल्क’

आमतौर पर बॉलीवुड की फिल्में समाज और सियासत से जुड़े सवालों से सीधे टकराने की जहमत नहीं उठातीं। उन फिल्मकारों से ऐसी फिल्मों की उम्मीद भी नहीं की जा सकती है, जो प्यार-मोहब्बत या एक्शन को केंद्र में रखकर फिल्में बनाते रहे हों। लेकिन ‘तुम बिन’, ‘दस’ और ‘रा.वन’...

सावन में सिनेमाई बरसात

कथानक और कमाई के लिहाज से इस साल के सात महीने हिंदी सिनेमा के लिए अच्छे रहे हैं। मॉनसून का मौसम है और अगस्त का महीना सावन का महीना भी है। इस महीने अनेक फिल्में प्रदर्शित हो रही हैं। इनके कारोबार और कामयाबी पर सालभर का हिसाब भी निर्भर...