नजरिया

किसे बचा रही हैं ममता

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी स्वयं सत्याग्रह करने बैठ गर्इं। आनन-फानन में यह एक देशव्यापी राजनीतिक मुद्दा हो गया। अनेक क्षेत्रीय नेता ममता बनर्जी के समर्थन में आगे आ गए। लेकिन सर्वोच्च न्यायालय ने राजीव कुमार को शिलांग में सीबीआई के जांच दस्ते के सामने पेश होने का निर्देश देकर फिलहाल...

खैरात बांटो, राज करो

चुनावी प्रतिस्पधा हमारी आर्थिक नीतियों को दिशा हीन बना रही है। इसका सबसे ताजा उदाहरण राहुल गांधी की यह घोषणा है कि सत्ता में पहुंचने परवे देश के हर गरीब परिवार को न्यूनतम आय उपलब्ध करवाएंगे। मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में जीत के बाद राहुल गांधी...

कमला हैरिस की चुनौती

अ मेरिका में बसे भारतीय मूल के लोगोंके लिए 21 जनवरी गौरव का दिनथा, जब 2020 में होने वाले अमेरिकीराष्ट्रपति के चुनाव के लिए कमला हैेरिस नेडेमोक्रेटिक पार्टी के नामांकन की दौड़ में उतरनेकी घोषणा की। इससे पहले निक्की हेली के नामकी चर्चा हो रही थीं, जो अभी हाल...

प्रयागराज का अर्द्धकुंभ

कुंभ मूलत: साधु-संन्यासियों के इकट्ठा होने का अवसर था, लेकिन अंग्रेजों के समय कुंभ का स्वरूप मेले का बना दिया गया। स्वतंत्रता के बाद भी सरकारों ने कुंभ के लिए यह विशेषण यथावत रखा और कुंभ की व्यवस्थाएं मेले के आधार पर ही होती रही हैं। उ त्तर प्रदेश की...

असम की राजनीति में भूचाल

ना गरिकता कानून में संशोधन ने असम की राजनीति में भूचाल ला दिया है। बीजेपी अपनी सरकार से यह संशोधन करवाने के लिए वचनबद्ध थी। भारतीय राजनीति की यह विडंबना ही है कि अब तक भारत विभाजन के कारण बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में मुस्लिम असष्णिुता के शिकार हिन्दू...

शेख हसीना की एकतरफा जीत

आम चुनाव में शेख हसीना की एकतरफा जीत हुई है और 300 में से उनके 288 सांसद चुने गए हैं। उनका प्रतिद्वंद्वी गठबंधन केवल सात जगह विजय प्राप्त कर सका। इस तरह के एकतरफा चुनाव परिणामों पर उंगली उठना स्वाभाविक है। भारत को बांग्लादेश के आम चुनाव में शेख हसीना...

अफगानिस्तान को अधर में लटका दिया है अमेरिका ने

अफगानिस्तान में अपने सैनिकों की संख्या आधी करने के अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के फैसले ने पाकिस्तान को उत्साहित कर दिया है। अफगानिस्तान में अपने सैनिकों की संख्या आधी करने की घोषणा से दो दिन पहले डोनाल्ड ट्रम्प सीरिया से अपने दो हजार सैनिक वापस बुलाने की घोषणा कर...

क्या नियम बनाने से रुकेगा जलवायु परिवर्तन!

हाल ही में पोलैण्ड के शहर काटोविस में संसार के 200 देशों की सरकारों के प्रतिनिधि इकट्ठा हुए, वे 2015 में पेरिस में जलपायु परिवर्तन को रोकने के लिए हुए समझौते की आगे की दिशा तय करने के लिए इकट्ठा हुए थे। लगभग दो सप्ताह की माथापच्ची के बाद...

करतारपुर कॉरिडोर से क्या चाहता है पाकिस्तान

यह मात्र संयोग नहीं था कि भारत सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास के लिए 26 नवंबर का दिन चुना। इस कॉरिडोर को बनाए जाने की घोषणा पहले पाकिस्तान ने की थी और उसने शिलान्यास के लिए 28 नवंबर का दिन तय किया था। भारत ने उसके दो दिन...

गुटनिरपेक्ष नहीं स्वतंत्र विदेश नीति

जवाहरलाल नेहरू की गुटनिरपेक्ष विदेश नीति से नरेंद्र मोदी की स्वतंत्र विदेश नीति कितनी अलग है, इसे अर्जेंटीना में हुई हाल की 20 देशों के समूह की बैठक के समय देखा जा सकता था। इस बैठक के दौरान उपस्थित हुए अन्य देशों के राष्ट्राध्यक्षों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की...