विनय के पाठक

14 POSTS0 COMMENTS
रांची विश्वविद्यालय से स्नातक। वर्ष 1988 में रांची में ही फील्ड रिपोर्टर के रूप में रांची एक्सप्रेस से जुड़े। उसके बाद साप्ताहिक रविवार, प्रभात खबर, सेंटिनल, पांचजन्य, राजस्थान पत्रिका, टेलीग्राफ, इकोनॉमिक्स टाइम्स, अमर उजाला, बीएजी फिल्म्स, न्यूज 24, इंडिया टीवी, जी न्यूज जैसी संस्थाओं के लिए उप संपादक से लेकर विशेष संवाददाता, सहायक फीचर एडिटर, समन्वय संपादक, एक्जक्यूटिव प्रोड्यूसर जैसे पदों पर कार्य कर चुके हैं। टीवी की दुनिया में ‘पोलखोल’ और ‘सनसनी’ जैसे कार्यक्रमों का भी प्रोडक्शन किया है।

जीएसटी से सधेगी जनता

गुड्स ऐंड सर्विसेज टैक्स काउंसिल की 28वीं बैठक में उपभोक्ताओं और कारोबारियों के लिए जिस तरह से राहत का ऐलान किया गया है, उससे यही लगता है कि सरकार पूरी तरह से जीएसटी के सहारे देश की जनता को साधने की जुगत में लगी है। जुलाई 2017 में जब...

रो रहा हूं मैं…

भारतीय रुपया मुद्रा बाजार में लुढ़कने का नया रिकॉर्ड बना रहा है। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया बार-बार 70 के स्तर को पार कर रहा है। बाजार विश्लेषकों और अर्थशास्त्रियों का मानना है कि रुपये की कीमत में मुख्य रूप से वैश्विक कारकों की वजह से गिरावट आ रही...

अर्थव्यवस्था पर वैचारिक द्वंद्व

विकास के दम पर भारतीय अर्थव्यवस्था ऊंची उड़ान भर रही है। विश्व बैंक की ताजा रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत फ्रांस को पछाड़कर दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बन गया है। लेकिन, विश्व प्रसिद्ध अर्थशास्त्री और नोबेल पुरस्कार विजेता अमर्त्य सेन का कहना है...

जीएसटी: कामयाबी का एक साल

देश के सबसे बड़े कर सुधार गुड्स ऐंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) ने पहला साल पूरा कर लिया है। भारत सरकार इसे एक बड़ी उपलब्धि के तौर पर देख रही है। भारत जैसे विशाल देश में एक नई टैक्स प्रणाली की शुरुआत करना और उसे एक साल की अवधि में...