रामबहादुर राय

1 POSTS0 COMMENTS

होता रहे संवाद

नागपुर में ही जवाब दूंगा।’ प्रणब मुखर्जी ने अपनी आलोचनाओं और बिन मांगी सलाहों के जवाब में यही कहा था। जैसा कहा, वैसा किया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का निमंत्रण वे स्वीकार करेंगे इसकी आशा जिन लोगों ने नहीं की थी वे चौंके। आपे से बाहर हुए। उन पर सवालों...