मुनीष बन्याल

5 POSTS0 COMMENTS

पहली बार गद्दी कार्ड पर दांव

कांगड़ा लोकसभा सीट पर भाजपा और कांग्रेस ने अपने-अपने प्रत्याशी मैदान में उतार दिए हैं। प्रदेश में सबसे महत्वपूर्ण मानी जाने वाली इस सीट पर दोनों पार्टियां फूंक-फूंककर कदम रख रही हैं। कहा जाता है कि हिमाचल में सत्ता का रास्ता कांगड़ा जिले से होकर ही गुजरता है। पर लोकसभा...

1967 तक बनता बिगड़ता रहा राजनीतिक परिदृश्य

1971 में हुए पांचवीं लोकसभा के चुनाव में प्रदेश को स्थायी तौर पर चार संसदीय क्षेत्र मिले। यही सिस्टम आज भी चल रहा है। एक समय था जब हिमाचल को अपनी राजनीतिक पहचान की दरकार थी। यह समय था आजादी के बाद का, जब हिमाचल प्रदेश को एक अलग राज्य...

कांग्रेस-भाजपा दोनों को खेवनहार की दरकार

शांता कुमार की चुनाव लड़ने को लेकर कभी हां तो कभी ना के चलते भाजपा तो पशोपेश में है ही, कांग्रेस की हालत भीतरघात को लेकर और भी अधिक खराब है। लोकसभा चुनावों की तैयारियों में जुटी कांग्रेस और भाजपा दोनों ही दलों को इस बार चुनावी वैतरणी पार लगाने...

कयासों पर लगाम कुलदीप राठौर को कमान

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस के नये प्रदेश अध्यक्ष के रूप में हाईकमान ने कुलदीप सिंह राठौर की ताजपोशी कर दी है। लो कसभा चुनाव का काउंटडाउन शुरू होने से पहले चरम पर पहुंची गुटबाजी और खेमेबंदी के लिए हिमाचल कांग्रेस के नये सरदार कुलदीप सिंह राठौर...

बिलिंग घाटी में मौत की उड़ान

देवभूमि हिमाचल जहां अपनी खूबसूरती के लिए प्रसिद्ध है, वहीं कई साहसिक खेलों को पसंद करने वालों की भी यह पसंदीदा जगह है। यह जगह रिवर राटिंग, पर्वतारोहण और पैराग्लाइडिंग जैसे खेलों के लिए देश-विदेश में जाना जाता है। आसमान में उड़ने की चाहत रखने वाले सैलानियों...