अवधेश कुमार

18 POSTS0 COMMENTS

एयर स्ट्राइक की अन्तर्कथा

सितंबर 2016 में सर्जिकल स्ट्राइक के जरिए एक तरह से पाकिस्तान को चेतावनी दी गई थी कि बदला हुआ भारत अब और माफ करने के मूड में नहीं है। बावजूद इसके आदतों से लाचार पाकिस्तान अपने धतकरमों से बाज नहीं आ रहा था। 26 फरबरी 2018 भारत के लिए ऐतिहासिक...

भारत के तेवर से घबराया पाकिस्तान

अंतरराष्ट्रीय समुदाय यह अच्छी तरह जानता है कि पाकिस्तान आतंकवाद का केन्द्र है। लेकिन इमरान कहते हैं कि हमारा अब नया पाकिस्तान है। इससे हमें क्या फायदा है? हम खुद पीडि़त हैं। इमरान की विवशता समझी जा सकती है। वे ऐसी कोई बात नहीं बोल सकते जो सेना और...

विस्मित करने वाला भ्रष्टाचार का जाल

रॉबर्ट वाड्रा से इन दिनों प्रवर्तन निदेशालय पूछताछ कर रहा है। विपक्षी पार्टियां इस कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित बता रही हैं। पर क्या वाकई यह राजनीति से प्रेरित है? क्या रॉबर्ट वाड्रा बेकसूर हैं? प्रवर्तन निदेशालय ने जबसे रॉबर्ट वाड्रा से पूछताछ आरंभ की है, भाजपा के अलावा ज्यादातर...

घोटालेबाजों का साथ देतीं ममता बनर्जी

एक मुख्यमंत्री का अपनी भूमिका भूलकर कानून और संविधान विरोधी अलोकतांत्रिक हरकत बहुत कुछ कहता है। तो यह क्यों न माना जाए कि ममता बनर्जी घोटालेबाजों का साथ दे रही हैं। और जानबूझकर सारदा घोटाले का पूरा सच सामने नहीं आने देना चाहतीं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का...

जांच एजेंसियों को कांग्रेस की धमकी

भ्रष्टाचार के मामलों की जांच कर रही जांच एजेंसियों को बुरा परिणाम भुगतने की चेतावनी देकर कांग्रेस ने अपनी छीछालेदर करा ली है। भ्रष्टाचार के इन मामलों में जांच एजेंसियां अदालत के आदेश से या अदालत की देखरेख में काम कर रही हैं। लेकिन इससे कांग्रेस परेशान है। देश में...

कौन हैं ईवीएम को निशाना बनाने वाले

अ जीब स्थिति है। एक हैकर लंदन केएक प्रायोजित कार्यक्रम में अमेरिकासे मुंह ढंके हुए वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिये दावा करता है कि चुनावों में ईवीएमकी हैकिंग बड़े पैमाने पर होती है और हमारे यहां हंगामा मच जाता है। न वह कोई सबूत देताहै, न कोई डेमो करता है,...

सोहराबुद्दीन के फैसले पर ऐसी चुप्पी क्यो

एक समय जो मामला लंबे समय तक सुर्खियों में रहा, उस पर राजनीतिक तूफान खड़ा करने की कोशिश होती रही और जब उस पर न्यायालय का फैसला आ गया, तो कहीं कोई प्रतिक्रिया ही नहीं। अब सीबीआई के विशेष न्यायालय ने शेष बचे सभी 22 आरोपियों को बरी कर...

आतंकी साजिश का भंडाफोड़

हमारे देश की तुलना किसी दूसरे देश से नहीं की जा सकती। यही देश है जहां आतंकवादियों की पकड़-धकड़ तथा हमलों की साजिशों के भंडाफोड़ पर सुरक्षा एजेंसियों की पीठ थपथपाने की बजाय उनको प्रश्नों के कठघरे में खड़ा किया जाता है। आप देखिए, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए), दिल्ली...

84 का पहला बड़ा गुनहगार

अपराध कैसे आपका पीछा करता है, इसका उदाहरण दिल्ली के दिग्गज नेता रहे सज्जन कुमार को 1984 के सिख नरसंहार के एक मामले में मिली सजा से मिलता है। ऐसा व्यक्ति जिसका मामला तक बंद हो गया, पुलिस ने कह दिया कि कोई प्रमाण नहीं मिला, दोबारा मामले की...

सीबीआई निषेध: राष्ट्रीय एकता के लिए खतरनाक

देश के सामने एक अभूतपूर्व स्थिति पैदा हो गई है। राजनीतिक टकराव या केन्द्रीय सत्ता पाने का लोकतांत्रिक संघर्ष संसदीय लोकतंत्र की स्वाभाविक प्रक्रिया है। किंतु इसमें कोई इस सीमा तक चला जाए कि केन्द्रीय एजेंसियों के अपने प्रदेश में प्रवेश निषेध कर दे, तो? इसकी कल्पना अब तक...