अवधेश कुमार

12 POSTS0 COMMENTS

सोहराबुद्दीन के फैसले पर ऐसी चुप्पी क्यो

एक समय जो मामला लंबे समय तक सुर्खियों में रहा, उस पर राजनीतिक तूफान खड़ा करने की कोशिश होती रही और जब उस पर न्यायालय का फैसला आ गया, तो कहीं कोई प्रतिक्रिया ही नहीं। अब सीबीआई के विशेष न्यायालय ने शेष बचे सभी 22 आरोपियों को बरी कर...

आतंकी साजिश का भंडाफोड़

हमारे देश की तुलना किसी दूसरे देश से नहीं की जा सकती। यही देश है जहां आतंकवादियों की पकड़-धकड़ तथा हमलों की साजिशों के भंडाफोड़ पर सुरक्षा एजेंसियों की पीठ थपथपाने की बजाय उनको प्रश्नों के कठघरे में खड़ा किया जाता है। आप देखिए, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए), दिल्ली...

84 का पहला बड़ा गुनहगार

अपराध कैसे आपका पीछा करता है, इसका उदाहरण दिल्ली के दिग्गज नेता रहे सज्जन कुमार को 1984 के सिख नरसंहार के एक मामले में मिली सजा से मिलता है। ऐसा व्यक्ति जिसका मामला तक बंद हो गया, पुलिस ने कह दिया कि कोई प्रमाण नहीं मिला, दोबारा मामले की...

सीबीआई निषेध: राष्ट्रीय एकता के लिए खतरनाक

देश के सामने एक अभूतपूर्व स्थिति पैदा हो गई है। राजनीतिक टकराव या केन्द्रीय सत्ता पाने का लोकतांत्रिक संघर्ष संसदीय लोकतंत्र की स्वाभाविक प्रक्रिया है। किंतु इसमें कोई इस सीमा तक चला जाए कि केन्द्रीय एजेंसियों के अपने प्रदेश में प्रवेश निषेध कर दे, तो? इसकी कल्पना अब तक...

तारीख दर तारीख!

पूरा देश 29 अक्टूबर को सर्वोच्च न्यायालय की ओर देख रहा था। सबको उम्मीद थी कि अयोध्या विवाद पर सुनवाई आरंभ हो जाएगी। सर्वोच्च न्यायालय में मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, एसके कॉल और केएम जोसफ वाली तीन जजों की पीठ ने पांच मिनट से भी कम से...

सीबीआई में सफाई अभियान

सीबीआई में जो कुछ हुआ, वह हर दृष्टि से देश की शीर्ष जांच एजेंसी की छवि पर बट्टा लगाने वाला है। विपक्ष सरकार पर हमले कर रहा है, वकीलों का एक समूह भी सरकार पर सीबीआई की स्वायत्तता में हस्तक्षेप करने का आरोप लगा रहा है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल...

पांच राज्यों के चुनाव में ऊंट किस करवट बैठेगा

चुनाव आयोग की घोषणा के काफी पहले ही राजनीतिक दलों ने पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव को लेकर अभियान शुरू कर दिया था। वैसे भी ये चुनाव अगले वर्ष यानी 2019 में होने वाले आम चुनाव की पूर्वपीठिका के समान हैं। 11 दिसंबर को मतगणना के बाद परिणाम चाहे...

मान गए किसान

किसान क्रांति यात्रा की राजधानी से वापसी पर नरेन्द्र मोदी सरकार ने निश्चित रूप से राहत की सांस ली होगी। हालांकि विपक्ष को अवश्य इससे निराशा मिली होगी, जो ये सोच कर खुश हो रहा था कि गुस्से में दिख रहे किसान आसानी से नहीं मानेंगे और सरकार की...

काले धन के ग्रहण में आम चुनाव

मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत के यह कहने के बाद कि चुनाव के दौरान काले धन पर लगाम लगाने के लिए मौजूदा कानून नाकाफी साबित हो रहे हैं, चुनाव में वित्तीय कदाचार यानी काले धन के उपयोग पर सघन बहस आरंभ हो गई है। वास्तव में चुनाव आयोग पिछले...

तेल मूल्य पर देश को गुमराह करती कांग्रेस

पेट्रोल, डीजल और बिना सब्सिडी वाले रसोई गैस की कीमतों को लेकर जितना बड़ा तूफान खड़ा किया गया है, उससे ऐसा लगता है कि शेष सारी पार्टियां तो जनता की हितैषी हैं। वे तेल मूल्य कम करना चाहतीं हैं लेकिन नरेन्द्र मोदी सरकार जानबूझकर कीमतों को बढ़ाती जा रही है। क्या...