अरविंद कुमार राय

8 POSTS0 COMMENTS

नागरिकता संशोधन विधेयक राजनीति के फेर में

इस समय पूर्वोत्तर की राजनीति में नागरिकता संशोधन विधेयक ने हलचल मचा रखी है। जब से विधेयक के नाम पर बांग्लादेशी हिंदुओं को बसाने की कहानी प्रचारित की गई, विभिन्न दल, संगठन व कुछ आम नागरिक इसके विरोध में खड़े हो गए हैं। विपक्ष जनता की इन्हीं भावनाओं को...

अवैध कोयला खदान हादसा

तकनीक के सहारे 380 फीट नीचे फंसी 15 जिंदगियों की तलाश शुरू हो गई है जिसमें अभी इतनी ही कामयाबी मिली है कि पता चल गया है कि मजदूर अंदर ही हैं।   ती न सौ अस्सी फीट जमीन के अंदर फंसी 15 जिंदगियों को तकनीक के सहारे तलाशने की कोशिशें...

चीन को चुनौती देता बोगीबील

देश की आजादी के बाद से पड़ोसी देश चीन धोखे से तिब्बत को हथियाने के बाद भारतीय सीमा को निगलने की अनवरत कोशिशों में जुटा हुआ है। चीन ने 1962 में धोखे से देश पर युद्ध थोपकर एक बड़ी चोट दी थी, जिसे देश कभी भूल नहीं सकता। बोगीबील रेल...

धर्म या भाषा के नजरिए से न देखें: श्रीवास्तव

राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) की दूसरी और अंतिम मसौदा सूची के 30 जुलाई को प्रकाशित होने के बाद से इसको लेकर विभिन्न स्तर पर चर्चा हो रही है। इसके पक्ष और विपक्ष दोनों में ही एक से बढ़कर एक दलीलें दी जाती हैं। कुछ लोग इसकी आवश्यकता पर प्रश्नचिह्न...

धर्म के आसरे कई पार्टियां

देश की राजनीति में धर्म का घालमेल लंबे समय से होता रहा है। इसके लिए राजनीतिक पार्टियां धर्म का लबादा ओढ़कर जनता को गुमराह करने की कोशिश में रहती हैं। कई बार इसका लाभ भी मिलता है, कई बार यह दांव खाली चला जाता है। बावजूद, राजनेता इस अमोघ...

दिल जीत ले गए प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 15 फरवरी के अरुणाचल दौरे का यदि सूक्ष्म विश्लेषण किया जाए, तो साफ जाहिर होता है कि प्रधानमंत्री द्वारा किए गए उद्घोष की गूंज पूर्वोत्तर के 3 राज्यों मेघालय, नगालैंड और त्रिपुरा में हो रहे विधानसभा चुनाव के मैदान तक सुनाई दी। प्रधानमंत्री ने अपने...

विकास विरोधी होने की तोहमत

पहाड़ी राज्य मेघालय में पांच वर्ष बाद फिर से विधानसभा चुनाव का बिगुल बज गया है। राज्य की सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस एक बार फिर मतदाताओं से पांच वर्ष के लिए जनमत मांग रही है। गत 15 वर्षों से सत्ता पर बैठी कांग्रेस के कामकाज को लेकर जनता में भारी...

साम्यवाद के नाम पर जातिवाद

साम्यवाद के नाम पर जातिवाद के खेल ने त्रिपुरा के मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) की सरकार के मुखौटे को हटाकर उसकी असलियत को बेनकाब कर दिया है। चालू माह की 17 तारीख को होने जा रहे विधानसभा चुनाव में यूं तो विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला बड़े...