जी हां आपने सही पढ़ा है। आतंकवादियों की शरणस्थली पाकिस्तान आज महंगाई की मार से त्रस्त है। आलम ये है कि आवश्यक वस्तुओं की कीमतें पिछले पाच साल के रिकॉर्ड स्तर पर हैं। नवंबर 2013 के बाद मुद्रास्फीति 9.41 पर पहुंच चुकी है। पेट्रोल की कीमतें आसमान छू रही हैं। जिससे खाने-पीने की चीजें, ट्रांसपोर्ट और दूसरी आवश्यक चीजों की कीमतों में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है।
पाकिस्तान में पेट्रोल की कीमत लगभग 98.88 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच चुकी है। इस तरह पाकिस्तान की जनता महंगाई और पेट्रोल-डीजल की कीमतो में बढ़ोतरी से परेशान है। वहीं पाक सरकार महंगाई पर अंकुश लगाने के बजाय चेतावनी दिया है कि बिजली और गैस की कीमतें अभी और बढ़ सकती हैं। गौरतलब है कि पाकिस्तान कर्ज में डूबा हुआ है। प्रधानमंत्री इमरान खान इंटरनेशनल मोनेटरी फंड (आईएमएफ) समेत कई देशों से कर्ज की गुहार लगा रहे हैं। कोई भी कर्ज देने को तैयार नहीं है। अकेल आईएमएफ से पाकिस्तान 1980 से अब तक 12 बार कर्ज ले चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here