चागोस द्वीप समूह के मामले में ब्रिटेन को अंतररा ष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) से बड़ा झटका लगा है। अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने अपने फैसले में कहा कि ब्रिटेन चागोस द्वीप समूह को खाली कर उसे मॉरीशस को वापस करे। साथ ही आईसीजे ने कहा कि चागोस द्वीपसमूह पर ब्रिटेन का कब्जा अवैधा िनक है। मॉरिशस ने आईसीजे में अपील की थी। वहीं इस मुद्दे पर भारत गत वर्ष ही सुनवाई के दौरान मॉरीशस के दावे का समर्थन किया था। गौरतलब है कि मॉरीशस को 1968 में ब्रिटेन से आजादी मिली लेकिन उससे पहले ही 1965 में ब्रिटेन ने मॉरीशस से चागोस द्वीप समूह को अलग कर दिया था। मध्य हिंद महासागर में स्थित चागोस एक द्वीप समूह है। हालांकि अंतरराष्ट्रीय न्यायालय का यह फैसला कानूनी तौर पर परामर्शदायी है बाध्यकारी नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here