कहते हैं कि कुछ कर गुजरने का जज्बा हो तो हर बाधाएं स्वत: समाप्त हो जाती हैं। कुछ ऐसी ही कहानी है शहीद मेजर प्रसाद महादिक की पत्नी गौरी महादिक की। वह जल्द ही भारतीय सेना में शामिल होंगी। गौरतलब है कि साल 2017 में गौरी के पति मेजर महादिक इंडो-चाइन बॉर्डर स्थित तवांग में शहीद हो गए थे। गौरी सर्विस सेलेक्शन बोर्ड की परीक्षाओं में शामिल होकर चेन्नई स्थित ओटीए में ट्रेनिंग के लिए क्वालिफाई हुई हैं। गौरी की 49 हप्तों की ट्रेनिंग अप्रैल 2019 से शुरू होगी। और मार्च 2020 में सेना में शा िमल हो जाएंगी। उन्होंने कहा कि सेना में शामिल होना ही मेरे पति के लिए सच्ची श्रद्धांजलि है। फिलहल गौरी कंपनी सचिव और वकील हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here