आज के समय में हर कोई अपने करियर को एक नई उड़ान देना चाहता है। इसके लिए छात्र 12वीं के बाद से ही सब्जेक्ट्स के चुनाव पर मंथन शुरू कर देते हैं। इन्हीं सब्जेक्ट्स में से एक है कॉमर्स, जिससे ज्यादातर छात्र बीकॉम करने के लिए और उसके बाद सीए की तैयारी करने के लिए चुनते हैं। ये चुनाव सही है, लेकिन अगर सीए में सफलता नहीं मिली, तो निराश होने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि आज के दौर में सिर्फ सीए ही एक मात्र आॅप्शन नहीं है बल्कि बीकॉम के बाद आपके पास करियर के अनेकों आॅप्शन है, जिसके जरिए अपने करियर को नई उड़ान दे सकते हैं। चार्टर्ड अकाउंटेंसी बीकॉम के बाद आप चार्टर्ड अकाउंटेसी का कोर्स कर सकते हैं।

चार्टर्ड अकाउंटेंसी फाइनेंस एंड अकाउंटेंसी के क्षेत्र में सर्वोच्च कोर्स माना जाता है। सीए प्रोग्राम में छात्रों को अकाउंटिंग, आॅडिटिंग और टैक्सेशन आदि के संबंध में पूर्ण जानकारी दी जाती है। जिससे आप भविष्य की चुनौतियों से निपट सकें।

कंपनी सेक्रेटरी सीए के अलावा यदि आप कंपनी के स्टॉक तथा इन्वेस्टमेंट्स के प्रबंधन में कुछ अलग करना चाहते हैं तो आपको सीएस प्रोग्राम करना चाहिए। सीएस का रोल बड़ा व्यापक होता है। ये कंपनी और उसके शेयरधारकों के बीच एक कड़ी की तरह होते हैं। ये कंपनी के स्टॉक ट्रेडिंग के कार्यों को संभालने में अहम भूमिका निभाते हैं।

सर्टिफाइड फाइनेंशियल एनालिस्ट यह प्रोग्राम उन विद्यार्थियों के लिए है, जिन्हें फाइनेंशियल सिस्टम्स तथा इन्वेस्टमेंट्स में कुछ अलग करना है। इस कोर्स के जरिए छात्रों को अकाउंटिंग स्टैंडर्ड्स, बिजनस प्रेक्टिसेज, इकोनॉमिक पॉलिसीज और उससे जुड़े विभिन्न पहुलओं की जानकारी दी जाती है।

बैंकिंग और बीमा बैंकिंग और बीमा का दायरा काफी बड़ा है। बीकॉम के बाद इस क्षेत्र में कई डिग्री या डिप्लोमा प्रोग्राम हैं जिसके जरिए इसमें करियर बनाया जा सकता है। इनमें प्रमुख हैं बैंकिंग एंड इंश्योरेंस में स्पेशलाइजेशन के साथ एमकॉम, बैंकिंग में स्पेशलाइजेशन के साथ एमबीए, इंश्योरेंस में स्पेशलाइजेशन के साथ एमबीए आदि। इससे जुड़े अधिकांश प्रोग्राम पोस्ट ग्रेजुएट स्तर के हैं। जिनमें स्पेशलाइजेशन के भी कई विकल्प मौजूद हैं।

मार्केटिंग यह फील्ड आज की जरूरत है। आज हर छोटी-बड़ी कंपनी मार्केटिंग के जरिए ही अपना विस्तार करती है। मार्केटिंग में किसी भी पृष्ठभूमि के विद्यार्थी अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं। हालांकि ये सच है कि कॉमर्स के छात्र इस क्षेत्र में विशेषज्ञता के जरिए कुछ बेहतर करते हैं। चूंकि बीकॉम ग्रेजुएट्स पहले से ही किसी डेटा को परखने के लिए बेसिक एनालिटिकल एप्टिट्यूड तथा लॉजिकल मैथडोलॉजी के जानकार हो चुके होते थे। ऐसे में उनकी सफलता की दर अधिक होती है। इसके अलावा इस सेक्टर में कई आॅप्शन ऐसे हैं जिनके जरिए आप अपनी मंजिल को हासिल कर सकते हैं। यदि आपकी शेयर को लेकर अच्छी समझ है तो ब्रोकर के रूप में आप अच्छी-खासी कमाई कर सकते हैं। इसके प्रशिक्षण के लिए आप कोई स्टॉक ब्रोकिंग कोर्स ज्वॉइन कर विशेषज्ञता हासिल कर सकते हैं। जहां आपको शेयरों की खरीदी-बिक्री के बारे में विस्तृत प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस तरह आपके लिए यह सेक्टर कई विकल्पों की सौगात लेकर आता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here